पति के बेटे संग भागी थी फेमस डकैत की वाइफ,12 की उम्र में बनी थी दुल्हन

dakait

“बेहद अय्याश था निर्भय गुज्जर”

“निर्भय सिंह अय्याश था| उसे अपनी हवस पूरी करने के लिए आए दिन नई-नई औरतो की तलाश रहती थी| जिस समय उसने मेरी जिन्दगी बर्बाद की, मै उसकी बेटी की उम्र की थी| उसने मेरे साथ इतना बुरा सलूक किया, जो मैं कभी भूल नहीं सकती|

धीरे-धीरे गैंग के लोगों से उसके बारे में पात चला| मुझसे पहले भी उसकी हवस पूरी करने के लिए कई औरतें लाई जा चुकी थी| पार्वती, मुन्नी प्नाद्ये का नाम भी इन्ही में से था|

लोग तो यहां तक कहते हैं कि उसने अपने बेटे श्याम जाटव की पत्नी सरला को भी नहीं छोड़ा था|

निर्भय कभी डकैती या किसी अपराध के दौरान गैंग के नए लोगों पर भरोसा नहीं करता था| वो मुझे कभी इस जगहों पर नहीं ले जाता था| वो मुझे हमेशा शक की निगाह से देखता था क्योंकि मै कई बार भागने की कोशिश कर चुकी थी|

“निर्भय के बेटे के साथ भागी थी नीलम, रखा था 21 लाख का इनाम”

मैं जंगल में बहुत दुखी रहती थी| निर्भय का गोद लिया बेटा कहा जाने वाला श्याम जाटव भी उसके अत्याचार से काफी परेशान था| एक दिन उसने मुझसे जंगल से भागने को कहा| वो भी मेरे साथ भागने को तैयार था और उसे रास्ता भी मालूम था| बस फिर हम दोनों जंगल से भाग निकले| 31 जुलाई 2004 को हमने कोर्ट में आत्म समर्पण कर दिया|”

मेरी इस हरकत से निर्भय गुर्जर आगबबुला हो गया था| उसने एलान किया था, कि जो भी उसकी पत्नी को जिन्दा या मुर्दा पकडकर लाएगा, उसे वो 21 लाख रुपए का इनाम देगा|

Updated: October 31, 2017 — 7:09 am
Currentoid (Worldwide News & Innovation) © 2017 Frontier Theme