इंदिराजी को हो गया था मौत का अंदेशा, क्या है हत्या के दिन की कहानी?

Indra Gandhi Assassination

9 नवम्बर 1917 को जन्मी इंदिरा गांधी ने भारत को अंतर्राष्टीय मंच पर नई पहचान दिलाई| किसी भी स्थिति से जूझने और जितने की क्षमता रखने वाली इंदिरा ने केवल इतिहास में ही खास जगह नहीं बनाई, बल्कि पाकिस्तान को विभाजित करवाकर दक्षिण एशिया का भूगोल ही बदल डाला|

भारत के उन चुनिन्दा कद्दावर नेताओं में शुमार की जाती है जिन्होंने कड़े फैसले लेने से कभी परहेज नहीं किया| फिर चाहे वह आपातकाल लागू करने का फैसला हो या फिर औपरेशन ब्लू स्टार का आदेश| उनहोंने बता दिया था कि वह घुटने टेकने वालों में से नहीं हैं| इंदिरा की हत्या के बाद उनके बेटे राजीव गांधी देश के प्रधानमन्त्री बने थे|

Updated: October 31, 2017 — 3:18 pm
Currentoid (Worldwide News & Innovation) © 2017 Frontier Theme